मोहम्मद बिन जायद ने बर्लिन में आधिकारिक रात्रिभोज में लिया भाग 


बर्लिन, 12 जून, 2019 (डब्ल्यूएएम) - अबू धाबी के क्राउन प्रिंस व यूएई सशस्त्र बलों के उप सर्वाेच्च कमांडर महामहिम शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान के सम्मान में जर्मनी की चांसलर एंजेला मार्केल ने बर्लिन के फेडरल चांसलरी में बुधवार को रात्रिभोज दी। भाेज में महामहिम शेख मोहम्मद शामिल हुए। इवेंट से पूर्व एक बयान में महामहिम शेख मोहम्मद बिन जायद ने मैत्रीपूर्ण संघीय गणराज्य जर्मनी के दाैरे पर प्रसन्नता व्यक्त की। उन्हाेंने कहा कि जर्मनी में यहां आकर मुझे बहुत खुशी हो रही है। हम अपनी सामरिक भागीदारी समझौते पर हस्ताक्षर करने के 15 वीं वर्षगांठ मना रहे हैं। उस समय व्यापार विनिमय 3 बिलियन अमेरिकी डॉलर था तथा अब 14 बिलियन अमेरिकी डॉलर के करीब है। जर्मनी की यात्रा इस बात की पुष्टि करती है कि हमारे पास अगले 15 वर्षों के लिए नया रोडमैप है। हम अपने व्यापार विनिमय दोगुना करना चाहते हैं। हमने कई मुद्दों पर चर्चा की है तथा उनमें से कई पर सहमती बनी। हम द्विपक्षीय संबंधों और सहयोग मजबूत होते देखने के लिए आशान्वित हैं। चांसलर मार्केल ने 2016 में अबू धाबी के क्राउन प्रिंस की 2016 में अंतिम बर्लिन यात्रा और 2017 में अपनी यूएई यात्रा की गर्मजाेशी से स्वागत की। उन्होंने कहा कि शेख मोहम्मद के साथ बातचीत कर द्विपक्षीय मुद्दों, विशेष रूप से दोनों देशों के बीच 15 वर्ष पुरानी रणनीतिक साझेदारी के मुद्दे काे निपटाया गया। आज की हमारी बातचीत द्विपक्षीय संबंधों को गहराई देने में हमारी प्रतिबद्धता को रेखांकित करती है। साफ ताैर पर एक लक्ष्य, जो संयुक्त वक्तव्य द्वारा बुधवार को यूएई और संघीय गणराज्य जर्मनी के बीच व्यापक रणनीतिक साझेदारी के लिए जारी किया गया। उन्होंने कहा कि शेख मोहम्मद, जर्मनी के वित्त मंत्री और व्यापारिक समुदाय के बीच हुई बैठक में आर्थिक संबंधों बढ़ाने की पारस्परिक इच्छा जाहिर की गई। उनके अनुसार हर साल एक मिलियन जर्मन आगंतुक यूएई की यात्रा करते हैं, जाे दोनों देशों के बीच घनिष्ठ संबंध का संकेत है। सहिष्णुता वर्ष के बारे में जर्मन चांसलर ने कहा कि यह हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है। कैथोलिक चर्च के प्रमुख पोप फ्रांसिस ने अपनी पहली यूएई की यात्रा की। यूएई ने विशेष ओलंपिक विश्व ग्रीष्मकालीन खेल 2019 की भी मेजबानी की, जिसमें अमीरातियाें और निवासियों की व्यापक भागीदारी देखी गई। जर्मन चांसलर ने कहा कि शेख मोहम्मद के साथ बातचीत के दाैरान विभिन्न धर्मों व समूहों के बीच पुलों के विस्तार, अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद, उग्रवाद और लोगों के बीच समझ के जरिये घृणा का मुकाबला करने की जरूरत पर जोर दिया गया। उन्हाेंने यूएई में आर्थिक जलवायु और निवेश अवसरों का जिक्र की, जो द्विपक्षीय सहयोग आगे बढ़ाने में योगदान दे सकता है। अपनी बात जारी रखते हुए उन्हाेंने कहा कि ग्लोबल एंटी करप्शन गठबंधन ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल के अनुसार यूएई क्षेत्रीय स्तर पर भ्रष्टाचार से लड़ने में अग्रणी भूमिका निभाती है और जर्मनी की कंपनियां नए निवेश के लिए दिलचस्पी रखती है। क्षेत्रीय सुरक्षा के बारे में उन्हाेंने कहा कि दोनों देशों के पास इस क्षेत्र में, विशेष रूप से सीरिया, लीबिया और यमन की स्थिति पर अधिक से अधिक सहयोग के विकल्प हैं। जर्मन चांसलर ने ईरान के मिसाइल कार्यक्रम और सीरिया में तेहरान के विद्रोह पर चिंता प्रकट की। ईरान के परमाणु समझौते पर उन्होंने कहा कि वाे अलग-अलग विचारों को स्वीकार की, लेकिन मैं राजनीतिक, शांतिपूर्ण समाधान के पक्ष में हूं। अनुवादः वैद्यनाथ झा http://wam.ae/en/details/1395302767535

WAM/Hindi