जॉर्डन में युवाओं के लिए मोहम्मद बिन जायद समर जीउ-जित्सु प्रोग्राम

  • الهلال الأحمر يطلق برنامج محمد بن زايد الصيفي للجوجيتسو في مخيم مريجب الفهود بالأردن
  • الهلال الأحمر يطلق برنامج محمد بن زايد الصيفي للجوجيتسو في مخيم مريجب الفهود بالأردن
  • الهلال الأحمر يطلق برنامج محمد بن زايد الصيفي للجوجيتسو في مخيم مريجب الفهود بالأردن
  • الهلال الأحمر يطلق برنامج محمد بن زايد الصيفي للجوجيتسو في مخيم مريجب الفهود بالأردن

अबू धाबी, 30 जुलाई, 2019 (डब्ल्यूएएम) -- अमीरात रेड क्रिसेंट (ईआरसी) ने जॉर्डन के माजेब अल फुड्ड शरणार्थी शिविर में जिउ-जित्सु सिखाने के लिए ‘मोहम्मद बिन जायद समर जीउ-जित्सु प्रोग्राम’ शुरू किया है। यह कार्यक्रम 14 जुलाई से 8 अगस्त तक चलेगा, जो यूएई जीयू-जित्सु फेडरेशन, इंटरनेशनल जिउ-जित्सु फेडरेशन, एतिहाद एयरवेज और पाल्म्स स्पोर्ट्स द्वारा सहायता प्राप्त है। इसकी घोषणा मंगलवार को अधिकारियों ने अबूधाबी में विदेशी संवाददाताओं के क्लब में किया है। मूल रूप से अमीरात भर में 40 से अधिक स्कूलों में लॉन्च किया गया है, जो 14 जुलाई से 21 अगस्त तक युवाओं को जिउ-जित्सु की कला और कौशल सिखाने के कार्यक्रम का परिचालन करेंगे। ईआरसी के उप महासचिव फहद अब्दुलरहमान बिन सुल्तान ने कहा, "जिउ-जित्सूयूएई के सबसे महत्वपूर्ण खेलों में से एक है, जिसे अबू धाबी के क्राउन प्रिंस और यूएई सशस्त्र बलों के उप सर्वोच्च कमांडर हिज हाइनेस शेख मोहम्मद बिन जायद अल नहयान का निरंतर सहयोग मिल रहा है। साल दर साल इसकी लोकप्रियता बढ़ती जा रही है।"

उन्होंने अल धफरा क्षेत्र में शासक के प्रतिनिधि हिज हाइनेस शेख हमदान बिन जायद अल नहयान और इस क्षेत्र में शासक के प्रतिनिधि के रूप में अल धफरा में जिउ-जित्सु को बढ़ावा देने के लिए अमीरात रेड क्रिसेंट (ईआरसी) के अध्यक्ष की महत्वपूर्ण भूमिका पर जोर दिया। बिन सुल्तान ने कहा, "यह खेल लंबे समय से मानव संचार का एक उपकरण है और दुनिया के देशों के बीच संबंधों को मजबूत करने का एक साधन है।'' अल धारी ने कहा, "इस अवसर पर अबू धाबी के क्राउन प्रिंस और यूएई सशस्त्र बलों के उप सुप्रीम कमांडर हिज हाइनेस शेख मोहम्मद बिन जायद अल नहयान का शुक्रिया अदा करना चाहते हैं। जिउ-जित्सु में उनके निरंतर सहयोग और विशेष रूप से इस पहल के कारण हम इस महत्वपूर्ण सफलता को हासिल करने में सफल रहे हैं।"

अल धारी ने आगे कहा, "हमें ईआरसी, इंटरनेशनल जीयू-जित्सु फेडरेशन, पाम्सस्पोर्ट्स और एतिहाद एयरवेज के साथ मिलकर काम करने पर गर्व है।"

अल धारी ने आगे कहा, "यूएई में कार्यक्रम के दूसरे चरण की घोषणा करते हुए हमें खुशी हो रही है। हमें यूएई के राष्ट्रीय जिउ-जित्सु चैंपियन का भी स्वागत करते हुए खुशी हो रही है जो इस कार्यक्रम को शरणार्थी शिविर में युवा पुरुषों और महिलाओं को लाने में मदद करेंगे।"

‘मोहम्मद बिन जायद समर जीउ-जित्सु प्रोग्राम’ का उद्देश्य प्रतिभागियों को उनकी शारीरिक और सामाजिक क्षमताओं को विकसित करने में मदद करना है। यह उन्हें आत्मरक्षा की कला सिखाकर और अनुशासन, एकाग्रता, नेतृत्व, आत्मविश्वास, धैर्य, लचीलापन और टीम वर्क पर ध्यान केंद्रित करने वाले जीयू-जित्सु के मुख्य मूल्यों को स्थापित करने के द्वारा किया जाएगा। इस प्रकार अपने दैनिक जीवन में एक स्वस्थ जीवन शैली और सकारात्मक दृष्टिकोण को बढ़ावा मिलेगा। इस कार्यक्रम को 25 ब्लैक बेल्ट जिउ-जित्सु एथलीटों की एक टीम द्वारा चलाया जाता है। अनुवादः एस कुमार http://www.wam.ae/en/details/1395302777768

WAM/Hindi