एडीएनओसी ने रूस के लुकऑयल को घाशा सोर गैस कन्सेसन में भागीदारी दी, आरडीआईएफ व लुकऑयल के साथ समझौते

  • eg74-hox0aa0vnl.jfif
  • eg74-jswkaapr2o.jfif

अबू धाबी, 15 अक्टूबर 2019 (डब्ल्यूएएम) -- अबू धाबी सरकार और अबू धाबी नेशनल ऑयल कंपनी, एडीएनओसी ने रूसी सूचीबद्ध पीजेएससी की सहायक कंपनी लुकऑयल कंपनी के साथ समझौता किया है। इस समझौते के तहत लुकऑल को घाशा अल्ट्रा-सोर गैस कॉन्सेसन में पांच फीसदी की हिस्सेदारी दी जाएगी। यह पहली बार है जब किसी रूसी कंपनी ने एडीएनओसी कॉन्सेसन में हिस्सेदारी ली है। यह यूएई व रूस के बीच रणनीतिक द्विपक्षीय समझौते की मजबूती को दर्शाता है। यह संयुक्त अरब अमीरात के विश्वसनीय और विश्वसनीय कारोबारी माहौल में अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के विश्वास की पुष्टि भी करता है। अबू धाबी में दोनों देशों के बीच मैत्रीपूर्ण संबंधों को आज समझौतों के आदान-प्रदान के जरिए मजबूती दी गई। समझौते पर यूएई के राज्य मंत्री और एडीएनओसी समूह के सीईओ डॉ. सुल्तान बिन अहमद अल जाबेर और लुकऑयल के अध्यक्ष वाजित एल्केपेरव ने हस्ताक्षर किए। रूपरेखा समझौते पर आरडीआईएफ के सीईओ डॉ. अल जबेर, एल्केपेरव और किरिल दिमित्रियेव ने हस्ताक्षर किए। इस अवसर पर डॉ. अल जाबेर ने कहा, "हम इस महत्वपूर्ण परियोजना पर लुकऑयल के साथ साझेदारी से बहुत खुश हैं। हम एक रणनीतिक ढांचे पर सहमत हैं व प्रसन्न भी। यह समझौता संयुक्त अरब अमीरात और रूस के बीच मजबूत रणनीतिक द्विपक्षीय संबंधों को दर्शाता है। वहीं, एल्केपेरव ने कहा, "घाशा गैस परियोजना का विकास यूएई में लुकऑयल की पहली परियोजना है। हम एडीएनओसी व आरडीआईफ के साथ इस परियोजना मे भागीदारी को लेकर बहुत खुश हैं। ऑफशोर फील्ड में लुकऑयल का बड़ा अनुभव है। दोनों ही कंपनियां स्वतंत्र व अंतर्राष्ट्रीय स्तर की कंपनियां हैं। हम यूएई में परियोजना को शुरू करने को लेकर खुश हैं।"

वहीं, दिमित्रिएव ने कहा, "घाशा परियोजना आरडीआइएफ और लुकऑयल के लिए महान निवेश के अवसर खोलती है। एडीएनओसी के साथ समझौता संयुक्त अरब अमीरात के साथ ऊर्जा सहयोग के एक उच्च स्तर को दर्शाता है और रूसी संघ से भागीदारों की विशेषज्ञता में विश्वास दिलाता है।"

लुकऑयल दुनिया में सबसे बड़े सार्वजनिक रूप से कारोबार, एकीकृत तेल और गैस कंपनियों में से एक है, जिसका दुनिया के तेल उत्पादन का 2 प्रतिशत से अधिक है। अबू धाबी के क्राउन प्रिंस और यूएई सशस्त्र बलों के उप सुप्रीम कमांडर हिज हाइनेस शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने पिछले साल सामरिक भागीदारी की घोषणा पर हस्ताक्षर किए थे। अनुवादः एस कुमार.

http://www.wam.ae/en/details/1395302794965

WAM/Hindi