यूएई के युवाओं को पर्यावरण संरक्षण के लिए प्रौद्योगिकी का उपयोग करने में सहयोग


दुबई, 21 अक्टूबर, 2019 (डब्ल्यूएएम) -- जलवायु परिवर्तन और पर्यावरण मंत्री डॉ. थानी बिन अहमद अल जायोदी ने यूएई में 'फर्स्ट ग्लोबल चैलेंज' की मेजबानी करने पर गर्व व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि समाज के सभी वर्गों को, विशेष रूप से युवाओं को यूएई नेतृत्व द्वारा विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में प्रदान किए गए सहयोग से यूएई सभी क्षेत्रों में वैश्विक नवाचार के लिए एक इनक्यूबेटर और प्रमुख केन्द्र बन गया है। अल जायोदी ने इस बात पर बल दिया कि यह 'ओशन अपॉर्च्युनिटीज' को चुनने से सही समय है, क्योंकि महासागर हमारे देश के तीन चौथाई हिस्से को घेरे हुए हैं। इनमें अनगिनत संसाधन शामिल होते हैं, हालांकि, प्लास्टिक उत्पादों और अन्य हानिकारक पदार्थों से जलवायु परिवर्तन और प्रदूषण जैसी कई चुनौतियां भी हैं। इन चुनौतियों का सामना करने और उनके नकारात्मक प्रभावों को कम करने के लिए नवाचार एकमात्र विकल्प है। उन्होंने कहा कि फर्स्ट ग्लोबल चैलेंज का महत्व है, जो इन चुनौतियों को दूर करने और उन्हें अवसरों में बदलने के लिए दुनिया भर के हजारों रचनात्मक और प्रतिभाशाली लोगों को साथ लाता है। यूएई के मंत्री ने उल्लेख किया कि यूएई स्थानीय और वैश्विक स्तर पर पर्यावरण को सामान्य रूप से और विशेष रूप से समुद्री जीवन को संरक्षित करने के लिए और अपने संसाधनों की स्थिरता सुनिश्चित करने के लिए प्रयास कर रहा है, क्योंकि समुद्री जीवन अपने पारिस्थितिक तंत्र का सबसे समृद्ध और संवेदनशील है। इस ढांचे में यूएई ने कई उपायों को अपनाया है जिसमें अत्याधुनिक तकनीक का उपयोग करते हुए नजदीकी निगरानी शामिल है जैसे कि कृत्रिम बुद्धिमत्ता के साथ ही जलवायु परिवर्तन प्रभावों को कम करने और इसके सभी स्तरों में प्रदूषण के स्तर को कम करने के लिए नवीन प्रणालियों और समाधानों को नियोजित करना है। वहीं, युवा मामलों की राज्य मंत्री शम्मा बिन्त सुहैल फारिस अल मजरूई ने फर्स्ट ग्लोबल चैलेंज की मेजबानी करते हुए इसके महत्व पर प्रकाश डाला, जो दुनिया के युवाओं की सभा और उनके कौशल व क्षमताओं के विकास में महत्वपूर्ण योगदान के लिए एक अवसर है। यह अवसर उन्हें दुनिया के सामने मौजूद कई चुनौतियों का समाधान बनाने के लिए नवीनतम तकनीकों को रोजगार देने के लिए प्रोत्साहित और सशक्त बनाता है। उन्होंने पुष्टि किया कि यूएई सरकार युवा रचनात्मकता के लिए एक पोषक वातावरण प्रदान करने के लिए उत्सुक है। अल मजरूई ने कहा कि फर्स्ट ग्लोबल चैलेंज का उद्देश्य यूएई के मिशन के अनुरूप है। यह दुनिया भर के युवा आविष्कारकों को आकर्षित करने और बेहतर भविष्य के लिए अपनी रचनात्मकता का उपयोग करने का अवसर प्रदान करते करता है। अनुवादः एस कुमार.

http://wam.ae/en/details/1395302796315

WAM/Hindi