शुक्रवार 03 दिसंबर 2021 - 2:16:32 एएम

यूएई व ब्रिटेन सतत विकास को बढ़ावा देने, आर्थिक साझेदारी को बढ़ावा देने के लिए नई कार्य योजना पर सहमत


दुबई, 18 अक्टूबर, 2021 (डब्ल्यूएएम) -- यूएई और ब्रिटेन की सरकारें स्वच्छ ऊर्जा, अनुसंधान व विकास, नवाचार, बुनियादी ढांचे, पर्यटन, खाद्य सुरक्षा, नई प्रौद्योगिकियों, आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस (एआई), अंतरिक्ष और चौथी औद्योगिक क्रांति सहित महत्वपूर्ण और भविष्य के क्षेत्रों में अपने आर्थिक संबंधों को मजबूत करने के लिए एक नई कार्य योजना पर सहमत हुए हैं। दोनों पक्ष अपने आर्थिक संबंधों को सुदृढ़ करने और दोनों देशों में सतत विकास रणनीतियों का सहयोग करने के लिए व्यावहारिक कदमों पर भी सहमत हुए। इनकी चर्चा एक्सपो 2020 दुबई के मौके पर आयोजित यूएई-ब्रिटिश संयुक्त आर्थिक समिति की सातवीं बैठक के दौरान हुई। बैठक में विदेश व्यापार राज्य मंत्री डॉ. थानी बिन अहमद अल जायोदी ने यूएई सरकार का प्रतिनिधित्व किया और ब्रिटेन के अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मंत्री रानिल जयवर्धने ने ब्रिटेन सरकार का प्रतिनिधित्व किया। बैठक में ब्रिटेन में यूएई के राजदूत मंसूर अब्दुल्ला काफलन बेलहौल ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से अर्थव्यवस्था मंत्रालय में विदेश व्यापार मामलों के सहायक अवर सचिव जुमा अल कीट के साथ दोनों देशों के कई अधिकारियों और निजी क्षेत्र के प्रतिनिधियों की उपस्थिति में भाग लिया। डॉ. अल जायोदी ने यूएई और ब्रिटेन के बीच घनिष्ठ रणनीतिक संबंधों पर प्रकाश डाला। उन्होंने उल्लेख किया कि उनके आर्थिक संबंध उनके बढ़ते सहयोग का एक प्रमुख स्तंभ हैं। उन्होंने अबू धाबी के क्राउन प्रिंस और यूएई सशस्त्र बलों के उप सर्वोच्च कमांडर हिज हाइनेस शेख मोहम्मद बिन जायद अल नहयान की ब्रिटेन की हालिया यात्रा का उल्लेख किया। बैठक के दौरान, अल जायोदी ने ब्रिटिश प्रतिनिधिमंडल को यूएई के व्यापारिक समुदाय में हाल के घटनाक्रमों के बारे में जानकारी दी, जिसमें 'प्रोजेक्ट्स ऑफ द 50' और यूएई द्वारा शुरू किए गए नए आर्थिक कानून और पहल शामिल हैं। अल जायोदी ने ब्रिटिश निवेशकों, उद्यमियों और कंपनियों से एक्सपो 2020 दुबई का दौरा करने और यूएई के आर्थिक क्षेत्र में आशाजनक अवसरों का लाभ उठाने का आह्वान किया। जयवर्धने ने यूएई के साथ अपने आर्थिक संबंधों को मजबूत करने के लिए ब्रिटेन की उत्सुकता को रेखांकित किया। उन्होंने कहा कि समिति नए क्षेत्रों को कवर करने और दोनों देशों के बीच साझेदारी को गहरा करने के लिए अपने आर्थिक संबंधों का विस्तार करने के साथ निवेश आकर्षित करने, नए रोजगार के अवसर पैदा करने और दोनों बाजारों में ब्रिटिश व अमीरात कंपनियों के लिए पहुंच की सुविधा प्रदान करने के लिए एक महत्वपूर्ण अवसर प्रदान करती है। दोनों पक्षों ने एक दूसरे के बाजारों तक एसएमई की पहुंच बढ़ाने के लिए व्यावहारिक कदमों को भी मंजूरी दी। अनुवादः एस कुमार.

http://wam.ae/en/details/1395302982282

WAM/Hindi