गुरुवार 20 जनवरी 2022 - 9:33:21 पीएम

हम एक व्यापक, सुविचारित रणनीतिक दृष्टि के साथ अगले 50 सालों में प्रवेश कर रहे हैंः यूएई के राष्ट्रपति


अबू धाबी, 1 दिसंबर, 2021 (डब्ल्यूएएम) -- राष्ट्रपति हिज हाइनेस शेख खलीफा बिन जायद अल नहयान ने कहा है कि यूएई के संस्थापक पिता ने एक आधुनिक राष्ट्र के निर्माण के लिए एक मार्गदर्शक पद्धति के रूप में सतत विकास को अपनाया है, जो मजबूत संवैधानिक, संगठनात्मक और संरचनात्मक सिद्धांतों से अपने मानवीय, सामाजिक-आर्थिक और सांस्कृतिक प्रभाव को प्राप्त करता है। यूएई की स्वर्ण जयंती के अवसर पर यूएई सशस्त्र बल पत्रिका 'नेशन शील्ड' को दिए एक बयान में राष्ट्रपति ने कहा, "‘प्रिंसिपल्स ऑफ द 50’ के अनुरूप यूएई लगातार एक अच्छी तरह से स्थापित मूल्यों और सिद्धांतों का ठोस पारिस्थितिकी तंत्र मानव पूंजी भविष्य के लिए यूएई की रणनीति के केंद्र में है।"

राष्ट्रपति ने कहा, "यह कानून का यह लचीला सेट है जिसने हमारे देश को एक ज्ञान-आधारित, नवाचार-संचालित अर्थव्यवस्था, एक विश्व स्तरीय स्वास्थ्य प्रणाली, एक उन्नत शिक्षा क्षेत्र, एक एकीकृत आधुनिक बुनियादी ढांचा, पर्यावरणीय स्थिरता और वैश्विक प्रतिस्पर्धात्मकता रैंकिंग में एक उल्लेखनीय स्थिति के साथ एक सुसंगत समाज स्थापित करने में सक्षम बनाया है।"

अपने बयान में राष्ट्रपति ने हाल की अवधि में हासिल किए गए महत्वपूर्ण उपलब्धि पर प्रकाश डाला: "हमने महिलाओं और युवाओं को सशक्त बनाने और एक विविध अर्थव्यवस्था विकसित करने में एक लंबा सफर तय किया है। बाहरी अंतरिक्ष ने हमारे पहले अमीराती अंतरिक्ष यात्री और ऐतिहासिक उपलब्धि में हमारी होप प्रोब का स्वागत किया, जिसने हमारे देश को अरब क्षेत्र में इस क्षेत्र में पहला और दुनिया भर में पांचवां बना दिया है। राष्ट्रपति खलीफा ने कहा, "हमने दुनिया को एक प्रेरक विकास सफलता की कहानी पेश की है, जिसने हमारे देश को एक प्रमुख क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय वित्तीय केंद्र और रहने, काम करने, निवेश करने और यात्रा करने के लिए एक मांग वाली जगह प्रदान की है। ऐसा करने में हमने भलाई, सेवा उत्कृष्टता, कॉर्पोरेट प्रशासन, व्यापार खुलापन, जीवन की गुणवत्ता और उद्यमिता के मामले में दूसरों को पीछे छोड़ दिया है। हमने कोविड-19 महामारी के परिणामों का सफलतापूर्वक सामना किया है और निवारक उपायों का पूर्ण अनुपालन करते हुए सामान्य स्थिति बहाल की है।"

राष्ट्रपति ने पुष्टि किया कि क्षेत्रीय और वैश्विक शांति की खोज और अच्छे-पड़ोसी के सिद्धांतों को बनाए रखना देश की विदेश नीति का मुख्य आधार बना रहेगा। "राजनीतिक, आर्थिक, सामाजिक और सुरक्षा स्तरों पर जीसीसी देशों के बीच सहयोग को मजबूत करना एक सर्वोच्च प्राथमिकता रहेगी। इस संदर्भ में हम अपने जीसीसी देशों की स्थिरता, एकता और क्षेत्रीय अखंडता के लिए सभी खतरों का सामना करना जारी रखेंगे। "हम दोहराते हैं कि खाड़ी सुरक्षा एकीकृत और अविभाज्य है। हमारे क्षेत्र में स्थिरता के स्तंभों को मजबूत करना एक सामूहिक जिम्मेदारी है जिसके लिए सभी जीसीसी देशों के बीच एक सुरक्षित और समृद्ध भविष्य के लिए हमारे लोगों की आकांक्षाओं को प्राप्त करने के लिए गहन रणनीतिक समन्वय की आवश्यकता है जैसा पिछले 50 सालों के दौरान हुआ है।"

राष्ट्रपति ने कहा, "हमें अपनी सरकारी टीमों पर गर्व है, जिन्होंने हमारे संस्थापक पिताओं द्वारा निर्धारित नियमों को मूर्त सेवाओं और लचीला बुनियादी ढांचे में अनुवाद करने में 50 सालों में सफलता प्राप्त की है। हमें अपने सशस्त्र बलों और उनके बहादुर कमांडरों व सैनिकों और हमारी सुरक्षा व पुलिस सेवाओं पर गर्व है।"

अनुवादः एस कुमार.

http://wam.ae/en/details/1395302998737

WAM/Hindi