शनिवार 13 अगस्त 2022 - 3:53:38 पीएम

मोहम्मद बिन जायद ने स्वच्छ ऊर्जा में विश्व-अग्रणी पोर्टफोलियो विकसित करने के लिए अबू धाबी बिजलीघर का शुभारंभ किया


अबू धाबी, 1 दिसंबर, 2021 (डब्ल्यूएएम) -- अबू धाबी के क्राउन प्रिंस और यूएई सशस्त्र बलों के उप सर्वोच्च कमांडर हिज हाइनेस शेख मोहम्मद बिन जायद अल नहयान ने बुधवार को एक वैश्विक स्वच्छ ऊर्जा बिजलीघर की घोषणा की, जिसका उद्देश्य 2050 तक नेट जीरो कार्बन के अभियान का नेतृत्व करना है। अक्षय ऊर्जा और ग्रीन हाइड्रोजन में अपने संयुक्त प्रयासों को मजबूत करते हुए अबू धाबी नेशनल एनर्जी कंपनी पीजेएससी (टीएक्यूए), मुबाडाला इन्वेस्टमेंट कंपनी (मुबाडाला) और अबू धाबी नेशनल ऑयल कंपनी (एडीएनओसी) अबू धाबी फ्यूचर एनर्जी कंपनी (मसदर) ब्रांड के तहत साझेदारी करेंगी। हिज हाइनेस शेख मोहम्मद बिन जायद ने इस बात पर प्रकाश डाला कि यूएई ऊर्जा संक्रमण को कैसे अपना रहा है क्योंकि यह कम कार्बन भविष्य को सुरक्षित करने के लिए व्यावहारिक और नई समाधानों को आगे बढ़ाता है, जिससे देश को '2050 तक नेट-जीरो स्ट्रेटेजिक इनिशिएटिव' पर पहुंचाने का मार्ग प्रशस्त होता है। एक्सपो 2020 दुबई में यूएई पवेलियन में समझौते पर हस्ताक्षर पर हिज हाइनेस शेख मोहम्मद बिन जायद के साथ अबू धाबी कार्यकारी परिषद के उपाध्यक्ष हिज हाइनेस शेख हज्जा बिन जायद अल नहयान; उप प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति मामलों के मंत्री हिज हाइनेस शेख मंसूर बिन जायद अल नहयान; अबू धाबी कार्यकारी परिषद के सदस्य और अबू धाबी कार्यकारी कार्यालय के अध्यक्ष हिज हाइनेस शेख खालिद बिन मोहम्मद बिन जायद अल नहयान; क्राउन प्रिंस कोर्ट के अध्यक्ष हिज हाइनेस शेख थेयाब बिन मोहम्मद बिन जायद अल नहयान मौजूद रहे। हस्ताक्षरकर्ताओं में उद्योग और उन्नत प्रौद्योगिकी मंत्री और एडीएनओसी के प्रबंध निदेशक और समूह सीईओ डॉ. सुल्तान बिन अहमद अल जाबेर; मुबाडाला इन्वेस्टमेंट कंपनी के प्रबंध निदेशक और समूह मुख्य कार्यकारी अधिकारी खलदून खलीफा अल मुबारक और एडीक्यू के सीईओ और टीएक्यूए के अध्यक्ष मोहम्मद हसन अलसुवेदी थे। तीन अबू धाबी चैंपियन के बीच साझेदारी में 2030 तक कुल क्षमता 50 गीगावाट से अधिक तक पहुंचने की उम्मीद के साथ अक्षय ऊर्जा की 23 गीगावाट से अधिक की संयुक्त मौजूदा, प्रतिबद्ध और अनन्य क्षमता होगी। इस लेन-देन के पूरा होने पर विस्तारित मसदर इकाई अपनी तरह की सबसे बड़ी स्वच्छ ऊर्जा कंपनियों में से एक बन जाएगी और वैश्विक स्तर पर उद्योग का नेतृत्व करने के लिए अच्छी स्थिति में होगी। बुधवार की घोषणा सभी तीन भागीदारों के प्रयासों को समेकित करती है, जो उनके नवीकरणीय ऊर्जा और ग्रीन हाइड्रोजन पोर्टफोलियो को मसदर में मिलाकर मौजूदा स्वच्छ ऊर्जा अग्रणी की मजबूत अंतरराष्ट्रीय विरासत और ब्रांड पहचान का लाभ उठाती है। नई मसदर साझेदारी जनवरी 2021 में अबू धाबी हाइड्रोजन एलायंस के निर्माण पर आधारित है, जिसमें मुबाडाला, एडीएनओसी और एडीक्यू (टीएक्यूए के बहुमत शेयरधारक) शामिल हैं और 17 नवंबर 2021 को एडीएनओसी और टीएक्यूए के बीच एक नए वैश्विक नवीकरणीय ऊर्जा उद्यम का शुभारंभ हुआ। सामूहिक रूप से साझेदार मसदर के विकास और विस्तार को सुपरचार्ज करेंगे, जिसमें प्रत्येक शेयरधारक एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। इस अवसर पर डॉ. सुल्तान अल जाबेर ने कहा, "यूएई अपनी जयंती मना रहा है, जो तीन अबू धाबी बिजलीघरों के बीच आज का ऐतिहासिक सहयोग वैश्विक ऊर्जा संक्रमण में एडीएनओसी को सबसे आगे रखता है और अंतरराष्ट्रीय स्वच्छ ऊर्जा क्षेत्र में हमारे प्रवेश का प्रतीक है। मसदर में हमारे प्रत्यक्ष हित के माध्यम से और हमारे भागीदारों के साथ घनिष्ठ सहयोग में एडीएनओसी कई रोमांचक स्थानीय और अंतर्राष्ट्रीय अक्षय ऊर्जा व हाइड्रोजन अवसरों को और अधिक भुनाएगा।"

हाइड्रोजन और इसके वाहक ईंधन के लिए उभरते बाजार में शुरुआती अग्रणी के रूप में एडीएनओसी की घरेलू और अंतरराष्ट्रीय हाइड्रोजन मूल्य श्रृंखलाओं को विकसित करने की महत्वाकांक्षी योजना है, जो अपनी व्यापारिक क्षमताओं, मौजूदा बुनियादी ढांचे और लॉजिस्टिक्स का लाभ उठाती है। वहीं खलदून अल मुबारक ने कहा, "आज हमारे स्वच्छ ऊर्जा चैंपियन मसदर के लिए एक नए अध्याय की शुरुआत है। पंद्रह साल पहले मुबाडाला ने हमारे इस विश्वास से मसदर की स्थापना किया कि नवाचार ग्रह के भविष्य की रक्षा करते हुए स्थायी आर्थिक विकास को बढ़ावा दे सकता है। मसदर एक सच्ची 'मेड-इन-द-यूएई' सफलता की कहानी है, जो हमारी दीर्घकालिक रणनीति को दर्शाती है।"

नई साझेदारी में दो प्रमुख क्षेत्रों अक्षय ऊर्जा और ग्रीन हाइड्रोजन पर व्यापक ध्यान देने की परिकल्पना की गई है। डॉ. सुल्तान अल जाबेर विस्तारित मसदर इकाई के अध्यक्ष बने रहेंगे, जो नवीकरणीय और ग्रीन हाइड्रोजन व्यावसायिक क्षेत्रों को कवर करेगा। यह योजना बनाई गई है कि टीएक्यूए मसदर के अक्षय ऊर्जा कारोबार में 43 फीसदी हिस्सेदारी के साथ अग्रणी भूमिका निभाएगा, जिसमें मुबाडाला 33 फीसदी और एडीएनओसी 24 फीसदी हिस्सेदारी रखेगा। इस बीच एडीएनओसी मसदर के ग्रीन हाइड्रोजन कारोबार में 43 फीसदी हिस्सेदारी के साथ अग्रणी भूमिका निभाएगा, जिसमें मुबाडाला की क्रमश: 33 फीसदी और टीएक्यूए 24 फीसदी हिस्सेदारी होगी। साझेदारी में पार्टियों को विस्तृत समझौते करने के साथ आवश्यक लेनदेन आवश्यकताओं को पूरा करने की परिकल्पना की गई है, जिसमें प्रासंगिक तृतीय पक्ष और नियामक अनुमोदन प्राप्त करना शामिल है। अनुवादः एस कुमार.

http://wam.ae/en/details/1395302998807

WAM/Hindi