रविवार 22 मई 2022 - 7:06:48 पीएम

वित्त पोषण 'साहसिक निर्णय' और एसडीजी पर जवाबदेही ग्लोबल गोल्स बिजनेस फोरम संवाद पर हावी


दुबई, 19 जनवरी, 2022 (डब्ल्यूएएम) -- दुबई प्रदर्शनी केंद्र एक्सपो 2020 दुबई में आयोजित ग्लोबल बिजनेस फोरम डायलॉग में सार्वजनिक व निजी क्षेत्रों के उद्योग जगत के नेता और विशेषज्ञ एकसाथ जुटे। इस अवसर पर, दुबई चैंबर ऑफ कॉमर्स (एक्सपो 2020 दुबई के आधिकारिक बिजनेस इंटीग्रेटर) के अंतरराष्ट्रीय संबंधों के उपाध्यक्ष हसन अल हाशमी ने कहा, "महामारी ने हमारे वैश्विक समाज की व्यापक कमजोरियों को उजागर किया है, हम जानते हैं कि इन परस्पर जुड़ी चुनौतियों का समाधान करने के लिए रोडमैप (एसडीजी) हैं। हम व्यवसायों से एसडीजी की दिशा में प्रगति में तेजी लाने और एक उज्जवल भविष्य के लिए एक स्थिर मार्ग सुनिश्चित करने के लिए सार्वजनिक क्षेत्र के साथ अपने प्रयासों को संरेखित करने का आह्वान करते हैं।"

इसने एक्सपो 2020 दुबई, दुबई चैंबर ऑफ कॉमर्स, एस्टोनिया और यूएन ग्लोबल कॉम्पेक्ट द्वारा सह-क्यूरेट किए गए फोरम के लिए टोन सेट किया और ग्लोबल गोल्स वीक के रूप में आयोजित किया, जो 15-22 जनवरी तक चलेगा। अपने उद्घाटन भाषण में संयुक्त राष्ट्र ग्लोबल कॉम्पैक्ट के सीईओ और कार्यकारी निदेशक सांडा ओजिम्बो ने कहा, "पिछले कुछ दिनों में मैंने जो एक शानदार और बार-बार आने वाला संदेश सुना है, वह यह है कि हम यहां दुबई में एक्सपो 2020 में सही समय पर उम्मीद, आशावाद, सहयोग और तात्कालिकता की अपार भावना का दोहन करने के सही जगह पर हैं।"

भारत की प्रमुख अक्षय ऊर्जा फर्मों में से एक रीन्यू पावर के चीफ सस्टेनेबिलिटी ऑफिसर वैशाली निगम सिन्हा शुरुआती सत्र एसडीजी एम्बिशन: एक्सेलरेट बिजनेस एक्शन में चाल्हौब ग्रुप सीईओ पैट्रिक चाल्हौब और डायनापैक एशिया, इंडोनेशिया के ग्रुप मैनेजिंग डायरेक्टर एम्मेलिन हम्बाली के साथ शामिल हुए। ग्रॉसवेनर कैपिटल के सह-संस्थापक और सीईओ पैनलिस्ट जहरा मलिक ने कहा, "अभी कॉरपोरेट से लेकर व्यक्तियों तक हम 'मानव' पर बहुत अधिक ध्यान केंद्रित कर रहे हैं, इसलिए रुझानों में बदलाव के मामले में सकारात्मक है और हम जो देख रहे हैं वह ईएसजी के सामाजिक तत्व के लिए ड्राइव है।"

जैसे-जैसे संवाद आगे बढ़ा जिम्मेदार वित्तपोषण और कॉरपोरेट्स पर बढ़े हुए ईएसजी रिपोर्टिंग दबाव मुख्य विषय साबित हुए। अन्य फोरम सत्रों ने एसडीजी में छोटे और मध्यम आकार के उद्यमों (एसएमई) द्वारा निभाई गई महत्वपूर्ण भूमिका पर बात किया कि कैसे डिजिटलीकरण प्रगति को गति दे सकता है और निजी क्षेत्र के प्रयासों को उनके संचालन और आपूर्ति श्रृंखला में बाल श्रम को रोकने और समाप्त करने के लिए किया जा सकता है। अनुवादः एस कुमार.

https://wam.ae/en/details/1395303012748

WAM/Hindi