सोमवार 05 दिसंबर 2022 - 3:25:10 पीएम

महारानी एलिजाबेथ द्वितीय, यूएई: प्रमुख मील के पत्थर

  • photo_5825824843411602291_w (1)
  • photo_5825824843411602288_w
  • photo_5825824843411602290_w
  • photo_5825824843411602292_w

अबू धाबी, 9 सितंबर, 2022 (डब्ल्यूएएम) -- महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के 96 साल की उम्र में निधन की घोषणा के बाद शोक का माहौल है। स्वर्गीय महारानी ने संस्थापक नेता स्वर्गीय शेख जायद बिन सुल्तान अल नहयान के युग के बाद से यूएई और यूनाइटेड किंगडम (यूके) के बीच गहरी जड़ें जमाने वाले दोस्ती संबंधों को मजबूत करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, जिसे राष्ट्रपति हिज हाइनेस शेख मोहम्मद बिन जायद अल नहयान और उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और दुबई के शासक हिज हाइनेस शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम द्वारा भेजे गए शोक पत्रों में रेखांकित किया गया। यूएई के नेताओं और स्वर्गीय महारानी के बीच आधिकारिक दौरे और सीधी बैठकें महत्वपूर्ण उपलब्धि थे, जिन्होंने दोनों देशों के बीच सहयोग को आगे बढ़ाने में मदद की। 1969 में महारानी एलिजाबेथ द्वितीय ने स्वर्गीय शेख जायद बिन सुल्तान अल नहयान से मुलाकात किया, जो उस समय अबू धाबी के शासक थे और उन्हें सर्वोच्च क्रम का मानद पदक प्रदान किया। फरवरी 1979 में यूएई की अपनी पहली यात्रा के दौरान, महारानी एलिजाबेथ द्वितीय को शेख जायद बिन सुल्तान अल नहयान, शेख राशिद बिन सईद अल मकतूम और सर्वोच्च परिषद के सदस्यों की अध्यक्षता में आधिकारिक और लोकप्रिय समारोहों में मिले थे। 18 जुलाई, 1989 को शेख जायद की ब्रिटेन की आधिकारिक यात्रा दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंधों में एक ऐतिहासिक घटना थी। 2010 महारानी एलिजाबेथ द्वितीय अपने पति प्रिंस फिलिप, ड्यूक ऑफ एडिनबर्ग के साथ नवंबर 2010 में यूएई की अपनी दूसरी आधिकारिक यात्रा पर अबू धाबी पहुंचीं, जिससे उनके द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने में मदद मिली। 30 अप्रैल, 2013 को स्वर्गीय शेख खलीफा बिन जायद अल नहयान ने महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के निमंत्रण पर ब्रिटेन की आधिकारिक दो दिवसीय यात्रा शुरू की, जिससे दोनों देशों के बीच संबंधों को विकसित करने में मदद मिली। यह यात्रा अमीराती-ब्रिटिश संबंधों में भी एक महत्वपूर्ण मोड़ थी, जिसका समापन विंडसर कैसल में उनके सम्मान में आयोजित लंच के दौरान शेख खलीफा और महारानी एलिजाबेथ के बीच एक बैठक के साथ हुई, जहां उन्होंने विभिन्न क्षेत्रीय और अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों पर चर्चा की। महारानी एलिजाबेथ द्वितीय ने 1952 में सत्ता संभाली और उनका शासनकाल ब्रिटिश इतिहास में सबसे लंबा था, जो महारानी विक्टोरिया से अधिक था। द्वितीय विश्व युद्ध के बाद, अन्य घटनाओं के बीच स्वर्गीय महारानी ने विकट परिस्थितियों में ब्रिटेन का नेतृत्व किया। उनकी मृत्यु की घोषणा के बाद ब्रिटेन ने शोक की एक आधिकारिक अवधि शुरू की है, जिसके दौरान कई निर्धारित आधिकारिक कार्यक्रम और गतिविधियां स्थगित कर दी जाएंगी और ब्रिटिश यूनियन जैक के झंडे आधे झुके रहेंगे। अनुवाद - एस कुमार.

http://wam.ae/en/details/1395303082146

WAM/Hindi