सोमवार 21 सितम्बर 2020 - 1:51:52 एएम

वित्त मंत्री ने राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था पर कोविड-19 से निपटने के लिए अंतरिम समिति के प्रयासों की समीक्षा की

  • وزير الاقتصاد يستعرض مخرجات أعمال اللجنة المؤقتة للتعامل مع آثار كورونا على الاقتصاد الوطني
  • وزير الاقتصاد يستعرض مخرجات أعمال اللجنة المؤقتة للتعامل مع آثار كورونا على الاقتصاد الوطني

अबू धाबी, 29 जुलाई, 2020 (डब्ल्यूएएम) -- कैबिनेट सदस्य और अर्थव्यवस्था मंत्री अब्दुल्ला बिन तौक अल मैरिज ने समिति की पांचवीं वर्चुअल बैठक के दौरान राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था पर कोविड-19 के प्रभाव से निपटने के लिए अंतरिम समिति द्वारा किए गए प्रयासों की प्रगति पर एक विस्तृत रिपोर्ट की समीक्षा की, जिसकी अध्यक्षता मंत्री ने की। महामारी की शुरुआत और इन समय के दौरान देश की व्यापार निरंतरता का सहयोग करने में उनकी प्रभावशीलता की हद तक संघीय और स्थानीय सरकारों द्वारा पिछले महीनों में अपनाए गए सभी उपायों के आर्थिक और वित्तीय प्रभावों पर उन्हें जानकारी दी गई। बैठक में आर्थिक मामलों के अर्थव्यवस्था मंत्रालय के अंडरसेक्रेटरी इंजीनियर मोहम्मद बिन अब्दुल अजीज अल शेही; अर्थव्यवस्था मंत्रालय में विदेश मामलों के अंडर सेक्रेटरी अब्दुल्ला बिन अहमद अल सालेह; वित्त मंत्रालय के अंडर सेक्रेटरी यूनिस हाजी अल खूरी; यूएई सेंट्रल बैंक के उप गवर्नर सैफ हदेफ अल-शम्सी; न्याय मंत्रालय के अंडरसेक्रेटरी डॉ. सैद अली बहबो; अबू धाबी में आर्थिक विकास विभाग के अंडरसेक्रेटरी राशिद अल बालोशी; दुबई अर्थव्यवस्था के महानिदेशक सामी अल कमजी ने भाग लिया था। बिन तौक ने कहा कि अंतरिम समिति देश के आर्थिक वातावरण में विकास का सहयोग करने के लिए अपने प्रयासों को जारी रखती है और यह सुनिश्चित करती है कि यह सरकार द्वारा घोषित सबसे हालिया उपायों, पहलों और प्रोत्साहन पैकेजों से लाभान्वित हो। इसके अलावा उन्होंने कहा कि समिति लगातार स्थायी व व्यावहारिक नीतियों और समाधानों को विकसित करने में उनकी सफलता को माप रही है जो व्यापार क्षेत्र की जरूरतों के अनुरूप हैं। उन्होंने पुष्टि की कि समिति में मंत्रालय और उसके साथी सीधे और समय-समय पर पैकेजों और पहलों के कार्यान्वयन का आकलन करेंगे और व्यावसायिक गतिविधियों का सहयोग करने और अर्थव्यवस्था को विकसित करने के सभी प्रयासों द्वारा खड़े होंगे। उन्होंने कहा कि समिति के सदस्यों द्वारा किए गए उपायों को कई अक्षों में विभाजित किया गया था। इनमें से सबसे प्रमुख बैंक ग्राहकों को व्यक्तियों और कंपनियों से बचाना; आर्थिक संरचना की रक्षा करना; पर्यटन और विदेशी व्यापार क्षेत्रों को प्रोत्साहित करना व उनका सहयोग करना; व्यक्तियों और निजी क्षेत्र के संस्थानों पर बोझ डालना और विकास को चलाने के लिए बुनियादी ढांचा परियोजनाओं पर निरंतर खर्च करना, राष्ट्रीय उद्योगों का सहयोग करना, और सभी अमीरात में व्यापार क्षेत्र का सहयोग करने के लिए अबू धाबी और दुबई की सरकारों व स्थानीय सरकारों द्वारा किए गए उपाय हैं। यूएई सेंट्रल बैंक के डिप्टी गवर्नर सैफ हदेफ अल शम्सी ने बैंक द्वारा पेश किए गए उपायों के बारे में विस्तार से बताया। इसने कई छोटे व मध्यम उद्यमों (एसएमई) को संकट के दौरान अपना संचालन जारी रखने में मदद की, रियल एस्टेट खरीदारों के लिए सुविधाएं प्रदान कीं और ऋण देने व आस्थगित भुगतानों के अनुरोधों को पूरा करने के लिए बैंकों की तरलता में सुधार किया। रिपोर्ट में शामिल सेंट्रल बैंक के आंकड़ों के अनुसार, 18 जुलाई तक बैंकों ने एईडी43.6 बिलियन निकाल लिए थे, जो सेंट्रल बैंक द्वारा प्रदान की गई एईडी50 बिलियन लक्षित आर्थिक सहायता योजना के 87.2 फीसदी के बराबर है। बैंकों ने उनमें से 95 फीसदी (एईडी41.42 बिलियन) का इस्तेमाल प्रभावित क्षेत्रों के लिए ऋण भुगतान को स्थगित करने के लिए किया था, जिसमें पिछले जून की शुरुआत में इस्तेमाल की गई राशि की तुलना में लगभग 37.6 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई थी। उपलब्ध कराए गए सहयोग से कुल 26 बैंकों को लाभ हुआ। इसके अलावा, रिपोर्ट में बताया गया है कि मानव संसाधन और अमीरात मंत्रालय द्वारा शुरू किए गए उपायों में वित्तीय और प्रशासनिक सहायता पैकेज शामिल हैं, जो मजदूरी संरक्षण, एक आभासी श्रम बाजार का विकास और बैंक गारंटी के विकल्प के रूप में एक बीमा प्रणाली को सुनिश्चित करते हैं। अनुवादः एस कुमार.

http://wam.ae/en/details/1395302859143

WAM/Hindi